शर्मिला को ‘इच्छा के विरुद्ध’ भोजन

शर्मिला पिछले छह बरसों से गांधी की तरह अहिंसक तरीके से अपनी बात दर्ज करा रही हैं भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में लागू सशस्त्र बल विशेषाधिकार क़ानून का विरोध कर रही शर्मिला को मणिपुर पुलिस ने ‘उनकी इच्छा के विरुद्ध’ खाना खिलाना शुरू कर दिया है. शर्मिला वर्ष 2000 से इस क़ानून के विरोध में … Continue reading